Valmiki society felt in the devotion of its adorable god

वाल्मीकि समाज लगा अपने आराध्य देव की भक्ति में

लोकदेवता गोगा देव जी की ध्वजा (छड़ी निशान) का हुआ मोहत्स्व प्रारंभ।

सरदारपुर/धार। गुरु पूर्णिमा के बाद से ही वाल्मिकी समाज के आराध्य लोकदेवता वीर गोगादेव जी की ध्वजा (छड़ी निशान) का कार्यक्रम प्रारंभ हो जा है, वाल्मिक समाज यह पर्व बडे ही हर्षोल्लास के साथ मनाता है।

उक्त कार्यक्रम वर्षो से समाज द्वारा गोगासंगी सेनापति वाल्मिकी वीर रतनसिंह और पांचों वीरों के जन्मोत्सव के रूप में श्री कृष्ण जन्माष्टमी के अगले दिन गोगा नवमी के रूप में मनाते हुए आ रहा है। पूरे श्रावण माह से भादो नवमी तक वाल्मिकी समाज अपने गोगारतन की भक्ति में लीन हो जाता है। हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी गोगा देव जी और साथी वीरों का जन्मोत्सव का महापर्व हर शहर में 20 अगस्त को मनाया जाएगा। आज श्रावण मास में नाग पंचमी के पवित्रपर्व पर राजगढ़ नगर में बाबा का झंडा निशान बड़े ही धूम- धाम से आतिश बाजी साथ बड़े ही हर्षोल्लास से उठाया गया, पूरा शांति नगर बाबा की जय कारो से गूंज उठा। युवाओं में बड़ा ही जोश नजर आया समाज में ध्वजा के दर्शन मात्र से सभी में खुशियां ही खुशियां छा गई।

समाज के संजय झूंजे ने बताया की गुरु पूर्णिमा के दिन से ही बाबा की भक्ति एवं उनकी तैयारियों में सभी जुट जाते, और बाबा की सेवा पूजा पूरी निष्ठा से करते हे, व श्री कृष्णा जन्माष्टमी के अगले दिन गोगा रतन नवमी का पर्व समस्त वाल्मीकि समाज द्वारा भव्य चल समारोह निकाला जाटा है, जिसकी तैयारिया बड़े जोर सौर पर जारी हे। और युवाओं में बाबा की भक्ति का भाव दिखाई दे रहा है, बाबा के झंडा निशान मोहत्सव में वरिष्ठ गण व युवा पावन झुंजे, भारत झुंजे, शैलेंद्र, संदीप, चेतन, आदर्श, राज, आर्यन, कृष्णा, दीपक, कार्तिक, कबीर, आकाश, निखिल, गौरव, ऋषि करण झुंजे सकल समाजजन उपस्थित रहा।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: