मध्यभारत Live

सच के साथ

What day is Rakshabandhan, let's know what is Bhadra's affair

किस दिन है रक्षाबंधन, आइए जानें क्या है भद्रा का चक्कर

धर्म/ज्योतिष।  इस वर्ष रक्षाबंधन को लेकर अत्यधिक उलझन की स्थिति बानी हुई है जिसका बड़ा कारण भद्रा है। असल में भद्रा काल लगने के दौरान भाई की कलाई पर राखी बांधना अच्छा नहीं माना जाता है। वहीं, 11 अगस्त और 12 अगस्त में से किस दिन भद्रा काल लगना है और कौनसे दिन असल में राखी मनाई जाए इसे लेकर अलग-अलग मत सुनने को मिल रहे हैं।

ज्योतिष के अनुसार किस दिन रक्षाबंधन है, आइए जानें क्या है भद्रा का चक्कर और रक्षाबंधन का असल शुभ मुहूर्त, किस दिन है रक्षाबंधन ?

ज्योतिष के अनुसार इस वर्ष रक्षाबंधन का त्योहार गुरुवार 11 अगस्त के दिन है। लेकिन, इस दिन सुबह 10 बजकर 38 मिनट पर भद्रा लग जाएगी। बता दें कि मान्यतानुसार इस समय काल में राखी नहीं बांधी जाती क्योंकि भद्रा को रक्षाबंधन का शत्रु माना जाता है। लेकिन, भद्रा पाताल लोक में होगी जिसका 11 तारीख पर कुछ खासा असर नहीं पड़ेगा और शुभ कार्य बाधित नहीं होंगे।

हालांकि, भद्रा के डर से लोग एकमत में नहीं आ रहे हैं। वैसे भद्रा अगले दिन सुबह 7 बजकर 5 मिनट तक रहेगी। भद्रा के चलते ही लोग 12 अगस्त के दिन राखी बांधने की योजना बना रहे हैं लेकिन 11 अगस्त के दिन भी तीन शुभ मुहूर्त हैं जिनमें राखी बेझिझक बांधी जा सकती है।

राखी बांधने का शुभ मुहुर्त

इस वर्ष 11 अगस्त, गुरुवार के दिन रक्षाबंधन का शुभ मुहुर्त ज्योतिषनुसार दोपहर 12 बजकर 53 मिनट पर है। यह अभिजीत मुहूर्त है। इसके अलावा दोपहर 2 बजकर 39 मिनट से 3 बजकर 32 मिनट तक विजय मुहूर्त रहेगा। आखिरी मुहुर्त शाम 6 बजकर 55 मिनट से 8 बजकर 20 मिनट का है। इसमें अमृत काल लगेगा। इस एक घंटे 25 मिनट के मुहुर्त में भी राखी बांधी जा सकती है।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

Spread the love