मध्यभारत Live

सच के साथ

Who is responsible for the death of the girl studying in the hostel?

Who is responsible for the death of the girl studying in the hostel?

छात्रावास में पढ़ रही बालिका की मौत जिम्मेदार कौन

सरदारपुर/धार। (रमेश राजपूत) मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह मामा के राज में उनकी भांजी की जान हॉस्टल के अधिकारियों की लापरवाही से चली गई।

आपको बता दे की जिले की सरदारपुर तहसील के ग्राम पंचायत तिरला में कस्तूर बा गाँधी बालिका छात्रावास मैं निवासरत कक्षा छठी में पढ़ने वाली क्षात्रा 11 वर्षीय वर्षा कि तबियत बिगड़ने से अचानक मौत हो गई जिसको लेकर परिजनों ने आरोप लगाया है की बालिका की मोत का कारन हॉस्टल के अधिकारी कर्मचारी है।

Who is responsible for the death of the girl studying in the hostel?
स्वास्थ्य केंद्र पर लाचार खड़े मृत छात्रा के परिजन।

वहीँ छात्रावास (हॉस्टल) सहायक अधीक्षिका चेना खराड़ी का कहना है की वर्षा को सर्दी जुखाम हो रहा था, हमने इसके परिजनों कॉल कर सुचना दी थी, परिजन लेने नहीं आए अचानक देर रात्रि में 3 बजे के समथिंग तबीयत ज्यादा खराब हुई हमने पेरासिटामोल गोली दी गोली देने के बाद अचानक तबीयत और ज्यादा खराब हुई। हॉस्टल का चौकीदार और परिजन बालिका को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सरदारपुर गए, वहां डॉक्टरों ने लड़की को मृत घोषित कर दिया।

Who is responsible for the death of the girl studying in the hostel?
सड़ी हुई एवं कीड़े लगी हुई चने की दाल।

वही लड़की के पिता राकेश भाबर का कहना है कि मुझे दोपहर में 2:30 बजे कॉल आया था कि आपकी बालिका की तबीयत खराब है, मैंने कहा कि अगर ज्यादा खराब हो तो मैं अभी आ जाता हूं। लेकिन स्कूल वालों का कहना था की अभी नॉर्मल है, उसके बाद मुझे वापस सुबह फोन आया कि आपकी लड़की की मौत हो गई है। हकीकत क्या है पीएम के बाद ही पता चलेगा।

Who is responsible for the death of the girl studying in the hostel?
डालर चने जिसमें कीड़े लगे हुए हैं, जो कि खराब हो चुके।

गौर तलब है की हॉस्टल में बहुत ही लापरवाही देखने को सामने आई है, वही हॉस्टल में बच्चों को खाना भी अच्छा साफ स्वच्छ नहीं दिया जाता है। काफी दिनों से रखी हुई सड़ी हुई दाल और सड़े हुए चने देखने को मिले। 

Who is responsible for the death of the girl studying in the hostel?
पानी की तरह, सिर्फ नमक मिर्ची और हल्दी के घोल में बनाई गई दाल-सब्जी।

वहां भोजन बना हुआ देखा गया तो दाल में कोई दाल ही नहीं है सिर्फ पानी पानी था और सब्जी में भी कोई सब्जी नहीं सिर्फ पानीही था।

उक्त मामले में उच्च स्तरीय जांच की जाएगी, जांच के दौरान जो भी दोषी पाया जाएगा उस पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी। अनुविभागीय अधिकारी पुलिस रतन लाल मेडा। 

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

Spread the love