madhyabharatlive

Sach Ke Sath

Bride 12 years old, groom 27, marriage fixed for 40 thousand, police stopped child marriage

Bride 12 years old, groom 27, marriage fixed for 40 thousand, police stopped child marriage

दुल्हन 12 साल की, दूल्हा 27 का, 40 हजार में तय हुआ विवाह, पुलिस ने रुकवाया बाल विवाह

भोपाल। राजधानी से लगे पास के ही एक गांव में 12 वर्ष की आदिवासी बालिका की 27 वर्ष के युवक साथ मंगलवार को शादी होना तय हुई थी। आदिवासी रिवाज के अनुसार दहेज की राशि 40 हजार रुपये में तय हुई थी। 20 हजार बेटी के माता-पिता को मिल चुके थे। 20 हजार शादी के बाद मिलना थे। सोमवार को हल्दी की रस्म हो रही थी, तभी बिन बुलाए मेहमान की तरह पुलिस जा पहुंची।

महिला पुलिस अधिकारी ने बालिका से पूछा कि तुम्हें पता है कि ये क्या हो रहा है। बोली, मेरी शादी हो रही है। उससे पूछा कि दूल्हा कैसा है? इस पर बोली कि आपसे भी बड़ा है। इस पर पुलिस ने विवाह की रस्में रुकवाईं और इस मामले में बालिका के माता-पिता सहित पांच लोगों के खिलाफ मानव तस्करी, किशोर न्याय अधिनियम, बालविवाह प्रतिषेध अधिनियम, पोक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कर सभी को गिरफ्तार कर लिया।

नानी के माध्यम से एक महिला ने कराया था रिश्ता

मौके पर मौजूद बालिका के माता-पिता को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो पता चला कि ममता वंशकार नाम की महिला ढोलक बजाने का काम करती है। उसने बालिका की नानी को भरोसे में लेकर पास के गांव के 27 वर्ष के सुरेंद्र जाट के रिश्ते की बात चलाई थी। वह मजूदूरी करता है। बालिका के माता-पिता के राजी होने पर रिश्ता 40 हजार रुपये में तय हुआ। लड़के के पिता ने 20 हजार रुपये अग्रिम दिए तो शादी की तैयारियां शुरू कर दी गई थीं। शादी होने के बाद शेष 20 हजार रुपये देना तय हुआ था।

एसडीओपी चौहान ने बताया कि उन्होंने बालिका से बात की और पूछा की ये हल्दी क्यों लगाई गई है, तो वह बोली कि उसकी शादी हो रही है। जब यह पूछा कि दूल्हा कैसा है? तो वह मासूमियत से बोली वह आप से भी बड़ा है। इस मामले में ममता वंशकार, सुरेंद्र जाट, सुरेंद्र के पिता मांगीलाल और बालिका के माता-पिता को गिरफ्तार कर लिया गया है। सभी को मंगलवार को कोर्ट में पेश किया गया। वहां से सभी को जेल भेज दिया गया।

एसडीओपी मंजू चौहान ने बताया कि सोमवार दोपहर गुनगा थाना इलाके में बाल विवाह होने की सूचना महिला एवं बाल विकास विभाग से मिली थी। मौके पर जाकर देखा तो एक बालिका को हल्दी लगा दी गई थी। जब उसकी उम्र के बारे में जानकारी जुटाई तो पता चला कि उसकी आयु 12 वर्ष कुछ माह है। कार्यवाही की जाकर शादी रुकवाई गई।

प्रधान संपादक- कमलगिरी गोस्वामी

Spread the love

Discover more from madhyabharatlive

Subscribe to get the latest posts to your email.

Discover more from madhyabharatlive

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading