madhyabharatlive

Sach Ke Sath

It started with 13 in 1986, 26 couples took the wedding vows in the 35th mass marriage

It started with 13 in 1986, 26 couples took the wedding vows in the 35th mass marriage

1986 में 13 से शुरुआत हुई, 35वें सामूहिक विवाह में 26 जोड़ों ने लिए फेरे

33 ग्रुप के 1000 से अधिक युवाओं ने संभाला मोर्चा। 15000 से अधिक लोगों ने किया भोजन।

पंडाल में लगी एलईडी स्क्रीन पर लोगों ने लिया आईपीएल का मजा।

सरदारपुर/धार। जितेन्द्र जैन। पाटीदार समाज का 35वां रात्रिकालीन सामूहिक विवाह रविवार को सम्पन्न हुआ। समाज के युवा संगठन के तत्वावधान में आयोजित समारोह में 26 जोड़े विवाह सूत्र में बंधे। विभित्र संगठनों के एक हजार से अधिक युवाओं ने व्यवस्था संभाली।

समाज द्वारा सन 1986 में प्रथम सामूहिक विवाह करने की शुरुआत की गई थी। जिसमें 13 जोड़ों की शादी हुई थी। पहले दिन में आयोजन होता था लेकिन सात आठ सालों से युवा संगठन द्वारा रात्रिकालीन आयोजन किया जा रहा है। सन 1986 से 2024 तक 36वां वर्ष होता परंतु सन 1992 में उज्जैन में सिंहस्थ होने पर सामूहिक का आयोजन नहीं हुआ था।

सालीग्राम की बारात निकाली —

कार्यक्रम की शुरुआत में श्री चारभुजा नाथ मंदिर से भगवान सालीग्राम की बारात बैंडबाजे के साथ निकाली गई। जो दोपहर 2 बजे विवाह स्थल पहुंची। जहां तुलसी विवाह कार्यक्रम हुआ। 4 बजे से वर-वधू का आगमन प्रारम्भ हुआ। रात में वैदिक मंत्रों के साथ पंडितों ने 26 जोड़ों का विवाह सम्पन्न कराया।

It started with 13 in 1986, 26 couples took the wedding vows in the 35th mass marriage
300 फीट की ऊंचाई से ड्रोन की नजर से देखिए पाटीदार समाज के सामूहिक विवाह के लिए सजे पंडाल का नजारा।

भीषण गर्मी से बचाने के लिए बीते सात आठ सालों से रात में करा रहे शादियां… और 4 लाख 20 हजार स्क्वेयर फीट के पंडाल की खूबसूरती बढ़ाने के लिए कारपेट व फव्वारे भी लगाए गए। वहीं आयोजन को सफल बनाने के लिए 33 ग्रुप के 1000 से अधिक युवाओं ने अपना योगदान दिया। 

सेल्फी पाइंट भी बनाए, ट्रैफिक मैनेजमेंट युवाओं ने संभाला —

सामूहिक विवाह पंडाल 600 बाय 700 यानी 4 लाख बीस हजार स्क्वेयर फीट में बनाया गया था। पूरे विवाह स्थल पर कारपेट बिछाई गई। भोजनशाला का पंडाल 260 बाय 400 यानी 1 लाख चार हजार स्क्वेयर फीट में बनाया। जहां 15000 से अधिक लोगों ने भोजन किया। महिला व पुरुष के अलग पंडाल बनाए गए। पूरे परिसर में सीसीटीसी कैमरे लगाए गए थे। फव्वारे लगाकर आकर्षक मंच भी बनाया।

It started with 13 in 1986, 26 couples took the wedding vows in the 35th mass marriage

शाम 4 बजे वर-वधू एवं बारात स्वागत में पाटीदार समाज पंच के वरिष्ठ एवं 40 से अधिक समाज की युवतियों सिर पर साफा बांधे स्वागत के लिए खड़ी थीं। सामूहिक विवाह परिसर में जहां एक और सेल्फी पॉइंट बनाए गए, वहीं विशेष आकर्षण में सरदार वल्लभ भाई पटेल बजरंगबली की विशाल प्रतिमा के साथ ही अनेक तरह के झांकियो के साथ परिसर में फव्वारे और बड़े-बड़े एलईडी स्क्रीन भी लगाए गए। युवाओं ने चार पाइंट बनाकर ट्रैफिक व्यवस्था संभाली। आयोजन पूर्व युवाओं के द्वारा विवाह स्थल पर सुंदरकांड का पाठ भी किया गया। जिससे आयोजन विधिवत संपन्न हो सके।

सुरक्षा प्रबंध- सामूहिक विवाह में सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए फायर ब्रिगेड एम्बुलेंस के साथ स्वास्थ्य विभाग एवं पुलिस का अमला मौजूद रहा।

Spread the love