madhyabharatlive

Sach Ke Sath

जुमे की नमाज से पहले मस्जिद से उतर गए लाउडस्पीकर

मीट की दुकानों पर भी पहुंचा निगम का अमला, MP में ताबड़तोड़ एक्शन।

ग्वालियर। मध्य प्रदेश में नवनियुक्त मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव के निर्देशों को लेकर पूरे प्रदेशभर में पुलिस प्रशासन सक्रिय हो गया है। अब खुले में मांस-मटन-अंडे बेचने वालों के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी है। साथ ही ध्वनि प्रदूषण फैलाने वाले लाउडस्पीकरों को भी उतारा जा रहा है।

मध्य प्रदेश सरकार का धार्मिक स्थलों से तेज आवाज में बजने वाले लाउडस्पीकर हटाने और खुले में मीट बेचने पर रोक लगने का आदेश जारी होते ही असर दिखने लगा है। ग्वालियर में शुक्रवार को जुमे की नमाज से पहले एक मस्जिद से लाउडस्पीकर उतर गया। इतना ही नहीं, एक मंदिर से भी लाउडस्पीकर को हटाया गया। वहीं, नगर निगम की टीम शहर के बाजार में मीट की दुकानों पर कार्रवाई करने के लिए भी पहुंच गई। इसी तरह से प्रदेश के शाजापुर और इंदौर में भी कार्रवाई की गई।

गौरतलब है कि गुरुवार को ग्वालियर कलेक्टर कार्यालय में सभी धर्म गुरुओं की पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित की गई थी। इस बैठक में पुलिस प्रशासन के अधिकारियों ने धर्म गुरुओं के साथ मिलकर प्रदेश सरकार द्वारा जारी किए गए आदेश का पालन करने में सहयोग करने की अपील की थी, जिसका असर शुक्रवार को देखने को मिला। यहां हस्तिनापुर इलाके के सिरसौद गांव में एसडीओपी संतोष पटेल और एसडीएम इसरार खान ने इलाके के मुस्लिम भाइयों के साथ समन्वय बनाया। जिसका असर जुमे की नमाज से पहले ही देखने को मिला।

जुमे की नमाज से पहले सिरसौद गांव में मुस्लिम भाइयों ने शासन के आदेश का सम्मान करते हुए मस्जिद से लाउडस्पीकर उतार लिए। मस्जिद के इमाम उजर अहमद ने गांव के बुजुर्ग शमशाद अली और पूर्व सरपंच आबिद अली के साथ मिलकर जुमे की नमाज से पहले मस्जिद के बाहर लगे चार लाउडस्पीकर को हटवाया। इसके बाद छारी मोहल्ले में स्थित शिव मंदिर पर लगे हुए लाउडस्पीकर को भी स्वेच्छा से उतार लिया गया।

Spread the love