madhyabharatlive

Sach Ke Sath

टीम को जांच में मूर्तियां भी मिली, टीम लगी नींव की जांच में

सर्वे टीम लगी नीव की गहराई का पता लगाने में।

ASI टीम को जांच में भोजशाला के पिछले हिस्से में कुछ मूर्तियां भी मिली।

धार। राजा भोज की नगरी धार में स्थित भोजशाला का सर्वे आर्कियोलॉजिकल सर्वे आफ इंडिया की टीम द्वारा किया जा रहा है। सर्वे का आज लगातार नोवा दिन था। कल शुक्रवार के दिन भी सर्वे टीम को नमाज के दौरान भोजशाला को खाली कर बाहर आना पड़ा। उसके बाद मुस्लिम समुदाय के लोगों ने शुक्रवार की नमाज भोजशाला के अंदर पड़ी।

हाईकोर्ट द्वारा जारी आदेश के तहत पुरातत्व विभाग की सर्वे टीम रंगपंचमी का त्योहार होने के बावजूद टीम दोनों पक्षों के लोगों के साथ सुबह ठीक 8 बजे भोजशाला पहुंच गई।

आपको बता दें कि आज सर्वे टीम के सदस्यों में भी बढ़ोतरी देखी गई। आज ASI टीम के 24 सदस्यों ने सर्वे किया। टीम के 8 नए सदस्य दक्षिण भारत से विशेष रूप से सर्वे के लिए आज सुबह भोजशाला पहुंचे। आज टीम ने 50 मीटर के दायरे के साथ साथ छत पर भी सर्वे किया।

पुलिस प्रशासन के लिए आज का दिन बड़ा ही चुनौती वाला दिन था —

एक तरफ रंगों का त्यौहार रंग पंचमी वहीं धार में भोजशाला का सर्वे। पुलिस प्रशासन ने पूरे इलाके में व्यवस्थाएं चाक चौबंद कर रखीं थीं। रंगपंचमी को लेकर भोजशाला के बाहर आज भारी पुलिस बल तैनात किया गया था।

सर्वे टीम के सदस्यों ने भोजशाला के पिछले हिस्‍से में भी कार्य शुरु किया। टीम ने भोजशाला के पीछे स्थित पेड़ों पर चिन्हित किया है। भोजशाला के पिछले हिस्‍से में खंडित मुर्तियां भी मिली है।

भोजशाला प्रांगण में स्थित हवन कुंड का भी विशेष रूप से सर्वे किया जा रहा है। भोजशाला की दीवारों की गहराई एवं उसकी बनावट को देखने के लिए टीम द्वारा पिछले हिस्से में खुदाई भी की जा रही है। खुदाई के दौरान करीब 10 फीट से ज्यादा खोदने के बावजूद भी दीवारों का पाया (नीव) नहीं मिला।

Spread the love