madhyabharatlive

Sach Ke Sath

पटाखा फैक्ट्री में ब्लास्ट, 50 से ज्यादा घरों में लगी आग

हरदा। (प्रवीण खारीवाल) प्रदेश के हरदा जिले में एक बड़ा हादसा हुआ, शहर में बनी एक पटाखा फैक्ट्री में ब्लास्ट होने से 50 से ज्यादा घरों में भीषण आग लग गई। विस्फोट के बाद लोग यहां वहां भागते हुए नजर आए। घटना में कुछ लोगों की मौत की आशंका भी जताई जा रही है। ब्लास्ट इतना तेज था कि उसकी आवाज सुनकर अचानक से लोग घबरा गए। बताया जा रहा है कि फैक्ट्री में बारूद रखा हुआ था, जिससे आग ने तेज रूप ले लिया।

गौर तलब है कि जिस पटाखा फैक्ट्री में आग लगी है वह फैक्ट्री मगरधा रोड के पास बनी हुई है। फैक्ट्री में बड़ी मात्रा में बारूद रखी हुई थी, जहां फैक्ट्री में मंगलवार सुबह जोरदार विस्फोट हुआ और भीषण आग लग गई। आग इतनी तेज थी कि 50 से ज्यादा घर उसकी चपेट में आए गए, देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया, जिससे पूरे क्षेत्र में अफरा-तफरी का माहौल बना हुआ है।

धमाका इतनी जोरदार था कि उसकी आवाज कई किलोमीटर दूर तक सुनाई दी साथ ही आग की लपटे भी काफी दूर से देखी जा रही थी। फैक्ट्री से उठती आग की लपटें और धुएं का गुबार देखकर लोग हैरान है।

मामले की जानकारी मिलते ही फायर ब्रिगेड की गाड़ियों को मौके पर भेजा गया है, इसके अलावा पूरे शहर के प्रशासन को अलर्ट पर किया गया है। फिलहाल आग लगने का कारण स्पष्ट नहीं है, लेकिन जिस तरह से आग लगी है उससे यह बड़ी घटना मानी जा रही आग इतनी तेज है कि आसपास के सभी जिले नर्मदापुरम, भोपाल, बैतूल, सीहोर जिले से फायर ब्रिगेड की गाड़ियों को हरदा रवाना किया गया है, जबकि सभी जिलों से 35 ज्यादा एंबुलेंस की गाड़ियां भी मौके पर रवाना कर दी गई हैं।

हरदा जिले के कलेक्टर ऋषि गर्ग और एसपी संजीव कुमार कंचन पूरे मामले के हालत संभालते हुए नजर आ रहे हैं। फिलहाल प्रशासन का पूरा अमला हरदा में एक्टिव है, क्योंकि इस घटना में बड़ी संख्या में लोगों के हताहत होने की खबर है। बताया जा रहा है कि फैक्ट्री में बड़ी मात्रा में अवैध रूप से बारूद रखा हुआ था, ऐसे में जब बारूद में आग लगी तो कई घर उसकी चपेट में आ गए।

बताया जा रहा है कि फैक्ट्री के आसपास मौजूद लोग इस घटना की चपेट में आए हैं, जिनमें से कई लोगों की मौत की खबर भी सामने आ रही है। सीएम मोहन यादव ने भी घटना की जानकारी ली है। सीएम ने हरदा की घटना को लेकर वरिष्ठ अधिकारियों से जानकारी तलब की है। हरदा में फिलहाल प्रशासन ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया है।

हरदा की घटना के बाद मुख्यमंत्री मोहन यादव ने आपात बैठक बुलाई है, उन्होंने मंत्री राव उदय प्रताप सिंह को तत्काल हरदा रवाना होने के निर्देश दिए हैं, इसके अलावा कई वरिष्ठ अधिकारियों को भी हरदा रवाना किया गया है, जबकि राजधानी भोपाल और इंदौर में बर्न यूनिट को आवश्यक तैयारी करने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं, क्योंकि घटना को देखकर इस बात का अंदाजा लगाया जा रहा है कि इस मामले में बड़ी संख्या में लोग हताहत हुए हैं। वहीं आसपास के जिलों को भी राहत और बचाव कार्य में जुटने के निर्देश जारी किए गए हैं।

सीएम मोहन यादव ने बताया कि कैबिनेट मंत्री उदय प्रताप सिंह, ACS श्री अजीत केसरी, डीजी होमगार्ड को तत्काल हेलीकॉप्टर से हरदा जाने के निर्देश दिए हैं, इसके अलावा NDRD, SDRF की टीमों तथा आस -पास के शहरों से फायर ब्रिगेड की दमकलों एवम् एंबुलेंस को भेजा जा रहा है। मुख्यमंत्री ने घायलों के बेहतर उपचार के लिए भोपाल, इंदौर में मेडिकल कालेज और एम्स भोपाल में बर्न यूनिट को आवश्यक तैयारी करने के निर्देश दिए हैं। सीएम ने कहा कि घायलों का बेहतर से बेहतर उपचार हमारी पहली प्राथमिकता है।

घटना के बाद हरदा से भोपाल के बीच ग्रीन कॉरिडोर बनया जा रहा है, ताकि घायलों को तत्काल इलाज के लिए अस्पताल भेजा जा सके। पटाखा फैक्टरी के घायलों को भोपाल के हमीदिया अस्पताल और एम्स भोपाल में भर्ती कराया जाएगा। जहां सभी घायलों और मरीजों का इलाज करवाया जाएगा। इस घटना के बाद से ही पूरे शहर में अफरा-तफरी का माहौल है, लोग हैरान परेशान नजर आ रहे हैं।

प्रधान संपादक- कमलगिरी गोस्वामी

Spread the love