madhyabharatlive

Sach Ke Sath

Chanting of Gayatri Mantra started by Brahmin matriarchs and Brahmins.

Chanting of Gayatri Mantra started by Brahmin matriarchs and Brahmins.

ब्राह्मणी मातृशक्तियों एवं ब्राह्मणों द्वारा गायत्री मंत्र का जाप प्रारंभ

बालीपुर धाम में ब्राह्मणी मातृशक्तियों एवं ब्राह्मणों द्वारा गायत्री मंत्र का जाप प्रारंभ।

24 मार्च को संगीतमय श्री दुर्गा चालीसा एवं श्री हनुमान चालीसा के सवा-सवा लाख  पाठ का अनुष्ठान। 

धार। (ज्ञानेंद्र त्रिपाठी) प.पू. सद्गुरुदेव श्री श्री 1008 श्री गजानन बाबा जी के 104 वे जन्म महोत्सव अंतर्गत पूज्य संत श्री 1008 सुधाकर जी महाराज एवं पूज्य संत श्री श्री 1008 मालवा निमाड़ में प्रसिद्ध यज्ञाचार्य परमहंस योगेश जी महाराज के पावन सानिध्य में श्री अंबिका धाम आश्रम बालीपुर धाम में फागुन शुक्ल पक्ष की सप्तमी से ब्राह्मणी मातृशक्तियों एवं ब्राह्मणों द्वारा गायत्री मंत्र का जाप प्रारंभ हो गया है।

Chanting of Gayatri Mantra started by Brahmin matriarchs and Brahmins.

गजानन बाबा जी का 104 वां “दिवस पर पूरे राष्ट्र से भक्तों का 24 मार्च को सांस्कृतिक मेला लगेगा। आश्रम में चारों ओर बहुमुखी अध्यात्म की लहरें उठ रही है। श्री दुर्गा सप्तशती पाठ, श्री हनुमान चालीसा पाठ, दुर्गा चालीसा पाठ चल रहे हैं। श्री बाबा जी द्वारा प्रचलित अग्निहोत्र को आज भी जिंदा रखने वाले शिष्य श्री योगेश जी महाराज 16 वर्षों से स्वयं अग्निहोत्र कर रहे हैं। वहीं श्री सुधाकर जी महाराज द्वारा मरीजों को आयुर्वेदिक दवाइयां से उपचार किया जा हैं। जिस बीमारी का निदान नहीं होता है उसका यंहा आकर सम्पूर्ण निदान होता है।

Chanting of Gayatri Mantra started by Brahmin matriarchs and Brahmins.
Chanting of Gayatri Mantra started by Brahmin matriarchs and Brahmins.

नौ दिवसीय अनुष्ठान के तहत यहां भंडारा भी प्रारंभ हो चुका है।

श्री बालीपुर धाम में 16 मार्च से प्रारंभ होकर 23 मार्च तक रात्रि 7 बजे से 10 बजे तक 7 बजे से रात्रि 1 बजे तक एवं 24 मार्च रविवार को प्रातः 8 बजे तक सामुहिक संगीतमय श्री दुर्गा चालीसा एवं श्री हनुमान चालीसा के सवा-सवा लाइन पाठ का अनुष्ठान होगा। इसके लिए निमंत्रण देने वाली समितिया घर-घर पहुंच कर निमंत्रण कार्ड वितरित कर रही है। गुरुभक्तो ने 100 से अधिक गुरुभक्तो की दस समितियों का निर्माण कर आस-पास के जिलो में 200 से अधिक गाँवो में जन्म महोत्सव का निमंत्रण देकर सभी गुरुभक्तो से श्री दुर्गाचालीसा एवं श्री हनुमान चालीसा के सवा-सवा लाख पाठ के महाअनुष्ठान में प्रत्येक भक्त से 1111 पाठ करने का आग्रह किया।

प्रधान संपादक- कमलगिरी गोस्वामी

Spread the love