madhyabharatlive

Sach Ke Sath

Oplus_131072

13 मार्च 2024 से अखंड श्री रामायण पाठ का आयोजन

इच्छापूर्ण हनुमान मंदिर में रामनवमी से श्रीराम महायज्ञ श्री शिव परिवार प्राण प्रतिष्ठा और शिखर प्रतिष्ठा।

धार। (अविनाश डावर) राष्ट्रीय राजमार्ग पर धार से करीब 3 किलोमीटर की दूरी पर लबरवादा पहुंच मार्ग पर स्थित श्री इच्छापूर्ण हनुमान मंदिर फो में भव्य प्रभु श्री राम महायज्ञ, श्री शिव परिवार प्राण और शिखर प्राण प्रतिष्ठा का सप्त दिवसीय आयोजन किया होने जा रहा है।

उक्त कार्यक्रम 17अप्रैल से प्रारंभ होगा जिसमे 13 मार्च से अखंड रामायण पाठ प्रारंभ हो चुका है। जो लगातार जारी है यह पाठ अखंड राम इच्छा से राम इच्छा तक जारी रहेगा।

7 दिवस के भव्य प्राण प्रतिष्ठा आयोजन सम्पन्न होने जा रहा है। जिसमे अनेक कार्यकम का आयोजन किए जाएंगे। हनुमान जन्मउत्सव पर पूर्णाहुती, महाप्रसादी एवं महाआरती का आयोजन होगा।

धार इच्छापूर्ण हनुमान मंदिर श्री सर्वेश्वरदास जी महराज राम पालकी धाम के नाम से भी प्रसिद्ध है। वहीं आयोजन धार क्षेत्र के प्रसिद्ध महंत प्रेमदास जी महाराज रामपालकी सरकार बरखेड़ा के सानिध्य में किया जाएगा। जिसमे स्थानिय संत श्री रामकृपालदास जी महाराज का भी सानिध्य प्राप्त होगा।

धार्मिक अनुष्ठान उज्जैन के यज्ञाचार्य पंडित राकेश जी शास्त्री के द्वारा संपन्न कराया जाएगा।

कलश यात्रा के साथ-साथ मंदिर में पूजन के साथ महायज्ञ का शुभारंभ होगा।

आयोजन को लेकर मंदिर परिसर में हवन कुंड एवं हवन शाला का निर्माण किया जा रहा है। इच्छापूर्ण हनुमान मंदिर में पहली बार इस तरीके से भव्य आयोजन किया जा रहा है। जिसको लेकर व्यापक स्तर पर तैयारी शुरू हो गई है।

यह होगे सप्त दिवसीय आयोजन —

17 अप्रैल को गणपति पूजन और शोभायात्रा का आयोजन होगा।मतलबपुरा से इच्छापूर्ण हनुमान मंदिर लबरावदा तक शोभायात्रा निकली जाएगी। 18अप्रैल को मण्डल स्थापना पूजन, अग्नि स्थापना, जलाधिवास आदि कार्यक्रम होंगे। 19 अप्रैल आवाहित देव पूजन, स्वाहाकार, अन्नाधिवास कार्यक्रम होंगे। 20 अप्रैल को आवाहित देव पूजन, स्वाहाकार फलाधिवास कार्यक्रम होंगे। 21अप्रैल आवाहित देवता पूजन, स्वाहाकार, पुष्पाधिवास शैय्याधिवास कार्यक्रम होंगे। 22 अप्रैल आवाहित देवता पूजन संपन्न विधि न्यास, प्राण प्रतिष्ठा संत सम्ममेलन के कार्यक्रम होंगे। 23 अप्रैल हनुमान जन्मोत्सव पूर्णाहुति महाप्रसादी एवं महाआरती का भव्य आयोजन होगा।

Akhand Shri Ramayana Paath organized from 13 March 2024

वही 22 अप्रैल को संत समागम का आयोजन होगा। जिसमे
देश भर से सैकड़ों साधु संत समागम में शामिल होंगे। सभी संतो को आमंत्रण भेजा जा चुका है। संतों की मौजूदगी में भव्य आयोजन सम्पन्न होगा।

22 अप्रैल को संतों के सम्मान के साथ 23 अप्रैल को महायज्ञ की पूर्णाहुति एवं कन्या भोज के साथ भंडारे का आयोजन किया जाएगा। जिसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल होकर प्रसादी ग्रहण करेंगे।

महायज्ञ को लेकर हवनशाला का निर्माण किया जा रहा है। अखण्ड रामायण पाठ प्रारंभ हो चुका है। प्रेमदास जी महाराज द्वारा इच्छापूर्ण मंदिर पर 13 मार्च से अखण्ड रामायण पाठ प्रारंभ किया जा चुका है, जो राम इच्छा तक अखण्ड जारी रहेगा।

आपको बता दें कि प्रेमदास जी महाराज द्वारा कई स्थान पर अखण्ड रामायण पाठ जारी रखा हुआ है। वहीं बरखेड़ा आश्रम पर भी कई वर्षो से अखण्ड रामायण पाठ जारी है। जो कई वर्षो से लगातार जारी है।

प्रधान संपादक- कमलगिरी गोस्वामी

Spread the love