madhyabharatlive.com

Sach Ke Sath

सीएम हेल्पलाइन जिसे खुद हेल्प की आवश्यकता है

धार। क्या शिवराज सिंह चौहान को मुख्यमंत्री पद से हटाने के बाद मुख्यमंत्री हेल्पलाइन भी हट जाएगी। मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा लाडली लक्ष्मी योजना सहित कई ऐसी योजनाएं चलाई गई थी जिनमें महामहिम मुख्यमंत्री के द्वारा सुचारू रूप से संचालन करवाया जा रहा था। क्या सत्ता में उनके ना रहने के बाद वह योजनाएं सुव्यवस्थित चल पाएगी?

हम बात कर रहे हैं सीएम हेल्पलाइन की जिसे खुद हेल्प की आवश्यकता है। कुछ समय पूर्व धार जिले के नौगांव थाना स्थित एक पीड़िता द्वारा अपने पति और ससुराल के द्वारा प्रताड़ित करने एवं घर से निकाल दिए जाने के बाद न्यायालय में अपनी पीड़ा सुनाई गई। जिसके बाद न्यायालय ने पीड़िता के पति को कोर्ट में हाजिर होने के लिए समन जारी किए। इसके बावजूद पीड़िता का पति कोर्ट में उपस्थित नहीं हुआ तब माननीय न्यायधीश महोदय ने पीड़िता के पति रवि बिलवाल को गिरफ्तारी वारंट जारी किया। करीब 1 वर्ष बीत जाने के बावजूद 11 गिरफ्तारी वारंट जारी करने के बावजूद नौगांव थाना पुलिस आरोपी रवि बिलवाल को न्यायालय में प्रस्तुत नहीं कर पाई।

आखिरकार परेशान पीड़िता ने सीएम हेल्पलाइन का सहारा लिया। इसके बाद पीड़िता द्वारा सीएम हेल्पलाइन पर अपनी शिकायत दर्ज कराई। शिकायत की स्थिति आज यह है कि शिकायत पुलिस महा उप निरीक्षक ग्रामीण झोन इंदौर के पास पहुंच गई हैं।

आपको बता दे कि आज के समय में डीआईजी पुलिस उपमहानिरीक्षक पूर्व में धार जिला पुलिस अधीक्षक रहे श्री राजेश हिंगणकर जी हैं। अब देखना होगा कि डीआईजी लेवल पर सीएम हेल्पलाइन की शिकायत जाने के बाद क्या पुलिस कार्रवाई कर पाती है, या फिर सीएम हेल्पलाइन को खुद हेल्प की आवश्यकता पड़ती है।

प्रधान संपादक- कमलगिरी गोस्वामी

Spread the love