madhyabharatlive

Sach Ke Sath

National Investigation Agency (NIA) raids on Sikligar's hideouts, illegal arms case

National Investigation Agency (NIA) raids on Sikligar's hideouts, illegal arms case

सिकलीगर के ठिकानों पर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) का छापा, अवैध हथियार का मामला

बड़वानी। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले के वरला थाना क्षेत्र के ग्राम उमरठी में छापा मारा। पुलिस सूत्रों के अनुसार सिकलीगरों के गांव उमरठी में एनआइए की टीम द्वारा पूरा दिन पूछताछ की गई।

यहां पर एक हथियार तस्कर सिकलीगर के घर पर दिनभर पूछताछ जारी रही। वहीं कुछ अन्य लोगों से भी पूछताछ की गई। पूरा दिन एनआइए की सर्चिंग जारी रही।

सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि राजस्थान में हुए कथित गैंगवार के अपराध के तार उमरठी से जुड़े हैं। वहां पकड़ाए गए हथियार यहां से तस्करी करने की जांच की जा रही है।

बड़वानी पुलिस अधीक्षक पुनीत गेहलोद के अनुसार एनआइए की टीम ने स्थानीय पुलिस को साथ में लेकर उमरठी गांव में वर्ष 2022 के राजस्थान के किसी अपराध से जुड़े एक आराेपित के घर पर पूछताछ की ह। संबंधित आरोपित तो नहीं मिला लेकिन उसके स्वजनों से पूछताछ की गई। वहीं कुछ और लोगों से भी पूछताछ हुई है। इसके अलावा और अधिक जानकारी तो जांच दल ने साझा नहीं की। स्थानीय पुलिस ने सुरक्षात्मक व्यवस्था के साथ पूछताछ में सहयोग किया।

National Investigation Agency (NIA) raids on Sikligar's hideouts, illegal arms case

गौरतलब है कि खालिस्तानी और आतंकवादी नेटवर्क का गठजोड़ पता करने के लिए राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने बुधवार को यहां पर जांच की।

अवैध हथियारों की तस्करी में देशभर में कुख्यात उमरठी

गौरतलब है कि अवैध हथियारों के निर्माण और तस्करी को लेकर सिकलीगरों का गांव उमरठी देशभर में कुख्यात हो चुका है। यहां के हथियार दलालों के माध्यम से नईदिल्ली, पंजाब, लखनऊ, मुंबई सहित देश के अन्य हिस्सों में जा चुके हैं। बीते वर्षों में समय-समय पर हुई कार्रवाइयों मेंं देश के विभिन्न हिस्सों में पकड़ाए हथियार और आरोपितों से यहां के तार जुड़े मिले हैं। वहीं स्थानीय पुलिस द्वारा भी समय-समय पर यहां पर अवैध हथियारों के निर्माण और तस्करी को लेकर बड़ी कार्रवाइयां की गई है।

प्रधान संपादक- कमलगिरी गोस्वामी

Spread the love

Discover more from madhyabharatlive

Subscribe to get the latest posts to your email.

Discover more from madhyabharatlive

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading