madhyabharatlive

Sach Ke Sath

Rape accused injured, ran away from custody, TI said will adopt the victim

Rape accused injured, ran away from custody, TI said will adopt the victim

दुष्कर्म आरोपी की तरफ से कोई वकील नहीं लड़ेंगा केस

दुष्कर्म आरोपी की तरफ से कोई वकील नहीं लड़ेंगा केस, बार एसोसिएशन का बड़ा फैसला।

उज्जैन। मासूम से दरिंदगी के मामले में बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक यादव ने बताया कि ऐसे आरोपियों की पैरवी कोई भी वकील नही करेगा। बार एसोसिएशन का कोई भी सदस्य आरोपियों की पैरवी नहीं करेगा।

आपको बता दें कि मध्यप्रदेश के उज्जैन में बच्ची के साथ बर्बरता की घटना के बाद, बार एसोसिएशन के वकीलों ने बड़ा फैसला लिया है। अब दुष्कर्म के आरोपी के तरफ कोई वकील कोर्ट में पैरवी नहीं करेगा। शुक्रवार को बार एसोसिएशन ने इसकी घोषणा की है। इससे पहले राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को कहा था कि उनकी सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि उज्जैन में नाबालिग से बलात्कार और क्रूरता के आरोप में गिरफ्तार आरोपी को कड़ी सजा मिले।

बता दें कि उज्जैन में 12 साल की नाबालिग के साथ दुष्कर्म घटना की घटना ने सबको झकझोर कर रख दिया है। घटना को लेकर लोगों में काफी आक्रोश है। घटना के बाद बार एसोसिएशन ने भी बड़ा फैसला लिया है। पूरे मामले को लेकर बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक यादव ने बताया कि ऐसे आरोपियों की बार एसोसिएशन का कोई भी सदस्य पैरवी नहीं करेगा।

आरोपी को फांसी को सजा दिलाने की कोशिश- अशोक यादव।

वहीं, पूरी घटना को लेकर बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक यादव ने निंदा करते हुए पुलिस से भी मांग की है कि ऐसे आरोपी पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि हम कोशिश करेंगे कि ऐसे लोगों को फांसी की सजा हो ताकि जिससे समाज में एक संदेश जाए और महिलाओं के साथ आने वाले समय में इस तरह की कोई भी घटना ना घटित हो।

दुष्कर्म का आरोपी गिरफ्तार—

बता दें कि उज्जैन में 12 साल की लड़की के साथ बलात्कार और क्रूरता करने के मामले में हिरासत में लिए गए एक ऑटो रिक्शा चालक को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया गया। मामला सामने आते ही सवाल पुलिस पर उठे थे, लेकिन करीब 72 घंटे के अंदर आरोपी को पकड़कर पुलिस ने हर सवाल का जवाब दे दिया।

घटना पर CM शिवराज की नजर—

मुखयमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी घटना के बाद की कार्रवाई की पल-पल अपडेट ले रहे हैं। CM शिवराज ने कहा कि मैं हर घंटे मामले की जांच पर नजर रख रहा हूं। ऐसे लोगों का समाज में कोई स्थान नहीं है। उसने मध्य प्रदेश की अंतरात्मा को चोट पहुंचाई है। पीड़िता मध्य प्रदेश की बेटी है। हम उसका हर तरह से ख्याल रखेंगे। वह मेरी बेटी है। हम यह सुनिश्चित करेंगे कि आरोपी को कड़ी सजा मिले।

25 सितंबर को क्या हुआ—

बता दें कि मध्य प्रदेश के उज्जैन शहर में 25 सितंबर को मासूम नाबालिग के साथ हैवानियत हुई थी और उसकी हालत ऐसी थी कि रूह कांप उठे। 12 साल की मासूम बच्ची, खून से लथपथ और अर्धनग्न शरीर अपनी जान बचाने के लिए सड़कों पर भटक रही थी। हैवानों ने 12 साल की बच्ची के पूरे कपड़े फाड़ दिए थे, उसके शरीर को नोच डाला था। दरिंदों ने बच्ची के साथ दरिंदगी के बाद उसे सड़क पर फेंक दिया था। जान तो बच गई थी, लेकिन मासूम की हालत बेहद गंभीर थी। अब भी उसका इलाज अस्पताल में जारी है।

संपादक- कमलगिरी गोस्वामी

Spread the love