madhyabharatlive

Sach Ke Sath

जीतू जिराती, मनोज सोमानी की मौजूदगी में फार्म वापस उठाया

पूर्व मंत्री श्रीमती रंजना बघेल ने मनावर विधानसभा क्षेत्र से अपना नामांकन वापस।

धार विधानसभा क्षेत्र में चार उम्मीदवारों के बीच होगा रोचक मुकाबला।

धार। (राकेश साहू) भाजपा की वरिष्ठ नेता पूर्व मंत्री श्रीमती रंजना बघेल ने आज नाम वापसी के अंतिम दिन जीतू जिराती और जिलाध्यक्ष मनोज सोमानी की उपस्थिति में अपना नामांकन वापस ले लिया है। धार जिले की मनावर विधानसभा क्षेत्र से टिकिट न मिलने के कारण भाजपा की वरिष्ठ नेता पूर्व मंत्री श्रीमती रंजना बघेल ने नाराज होकर अपना नामांकन दाखिल कर दिया था। भाजपा ने मनावर से शिवराम कन्नौज को अपना अधिकृत उम्मीदवार घोषित किया है।

स्व श्री गोपाल कन्नौज के पुत्र शिवराम कन्नौज सबसे कम उम्र के युवा नेता है। गत विधानसभा चुनावों में गोपाल कन्नौज ने निर्दलीय प्रत्याशी होकर मनावर विधानसभा क्षेत्र से लगभग 30 हजार मत लेकर से आए थे और क्षेत्र में अपनी ताकत को दिखाया था। इसी के चलते भाजपा ने शिवराम कन्नौज को अपना अधिकृत प्रत्याशी बनाया है। मनावर से जयस के नेता कांग्रेस के उम्मीदवार डॉ हीरालाल अलावा की मजबूत पकड़ होने के कारण इस बार भाजपा ने स्व श्री गोपाल कन्नौज के पुत्र शिवराम कन्नौज को अधिकृत उम्मीदवार घोषित किया।

आपको बता दें कि भाजपा के वरिष्ठ नेता भारत सरकार के गृहमंत्री अमित शाह ने अपनी इंदौर यात्रा के दौरान श्रीमती रंजना बघेल को तलब कर समझाइश दी थी। अमित शाह की बात को मानते हुए श्रीमती रंजना बघेल ने अपना नामांकन पत्र वापस लेने का फैसला लिया। श्रीमती रंजना बघेल ने आज जीतू जिराती और जिलाध्यक्ष मनोज सोमानी की उपस्थिति में अपना नामांकन फार्म वापस ले लिया। राजनीतिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आगामी लोकसभा चुनावों में भाजपा धार-महू लोकसभा क्षेत्र से अपना उम्मीदवार बना सकती हैं।

धार विधानसभा सीट पर दिनभर रही निगाहे।

एक नवंबर से ही धार नगर में चर्चा जोरों से चल रही थी कि क्या राजीव यादव अपना नामांकन पत्र वापस ले सकते हैं। सोशल मीडिया पर कैलाश विजयवर्गीय धार आ रहे है और राजीव यादव से चर्चा उन्हे मनाने की कोशिश करेगे। ऐसी जनचर्चा चलती रही। भाजपा के मीडिया प्रभारी संजय शर्मा ने बताया था कि कैलाश विजयवर्गीय दोपहर एक बजे हेलीकाप्टर से धार आ रहे हैं। जिससे यह चर्चा जोरों से चल रही थी कि राजीव यादव को मनाने का प्रयास किया जायेगा। किंतु सूत्र बताते हैं कि राजीव यादव ने अपना मोबाईल फोन बंद कर लिया है और किसी से भी नहीं मिल रहे हैं। अभी जानकारी मिली कि कैलाश विजयवर्गीय ने धार आने का कार्यक्रम निरस्त कर दिया है। जिससे लगता है कि राजीव यादव से संपर्क नहीं हो पा रहा है। समाचार लिखे जाने तक राजीव यादव ने अपना नामांकन पत्र वापस नहीं लिया है। अब धार विधानसभा क्षेत्र में भाजपा, कांग्रेस के अलावा दो निर्दलीय उम्मीदवार चुनावी अखाड़े में रहेंगे।

अब देखना होगा चतुष्कीय मुकाबले में किसका पलड़ा भारी रहता है और किसके दावे मजबूत साबित होते हैं और किसके दावे खोखले साबित होगे।

आपको बता दें कि निर्दलीय प्रत्याशी राजीव यादव भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष हैं और संगठन में मण्डल स्तर से लेकर बूथ स्तर पर मजबूत पकड़ रखते हैं। राजीव यादव को भाजपा के वरिष्ठ नेता अनंत अग्रवाल और करण सिंह पंवार का साथ भी खुलेआम मिल रहा है। साथ ही पीथमपुर के युवा नेता देवेंद्र पटेल भी राजीव यादव के साथ खुलेआम साथ दे रहे हैं।

इसी प्रकार दूसरे निर्दलीय उम्मीदवार कुलदीप सिंह बुंदेला कांग्रेस से टिकिट न मिलने से नाराज होकर निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में मैदान में डटे हुए हैं और उनके पिता स्व श्री मोहन सिंह बुंदेला कांग्रेस के जमीनी कार्यकर्ता और मजबूत पकड़ के नेता माने जाते हैं। बुंदेला धार विधानसभा क्षेत्र में ग्रामीण क्षेत्रों के साथ साथ शहरी क्षेत्रों में भी मजबूत पकड़ रखते हैं।

कांग्रेस की अधिकृत प्रत्याशी श्रीमती प्रभा बालमुकुंद सिंह गौतम हैं जो 2018 के चुनावों में पराजित हुई थी वही भाजपा से श्रीमती नीना विक्रम वर्मा अधिकृत प्रत्याशी हैं जो लगातार तीन बार विधायक चुनी जा चुकी हैं और जीत का चौका लगाने का आव्हान कार्यकर्ताओ से कर रही हैं।

Spread the love