madhyabharatlive.com

Sach Ke Sath

लाडली बहना योजना की जानकारी के साथ वृ़द्धजन एवं प्रतिभा सम्मान समारोह सम्पन्न

वृहद दशा श्रीमाली समाज द्वारा समाज के कमजोर वर्ग जैसे वृद्ध, महिला एवं बच्चों हेतु पहल।
(बुढ़े पेड़ से छाया मिलती है गमलों से नहीं-डॉ. प्रधान)

खरगोन। वृहद दशा श्रीमाली समाज इकाई खरगोन का वार्षिक मिलन समारोह रविवार को मांगरूल रोड़ स्थित एक निजी शाला में सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ. एस.जे. प्रधान, समाज अध्यक्ष श्री प्रदीप दलाल, महिला मण्डल अध्यक्ष श्रीमती सुलभा प्रधान द्वारा मॉं सरस्वती एवं कुलदेवी माता लक्ष्मी का पूजन एवं दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम आरंभ किया गया।

कार्यक्रम में सर्वप्रथम मध्यप्रदेश शासन की महत्वपूर्ण योजना मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना की जानकारी समाज की पात्र महिलाओं को दी गई। इसके पश्चात् समाज के वृ़द्धजन केन्द्रीय समिति के अध्यक्ष प्रकाशचन्द्र श्रीमाली, सुरेशचन्द्र प्रधान, सिद्धनाथ श्रीमाली, रमेशचन्द्र श्रीमाली एवं वल्लभ श्रीमाली का सम्मान माता लक्ष्मी का चित्र, माला, शाल श्रीफल के साथ किया गया। समाज की गंगा भागीरथी तुल्य माता बहन आशा श्रीमाली, लता दलाल, प्रमिला गुजराथी, भारती श्रीमाली, लीला श्रीमाली, प्रभावति प्रधान, सुशीला श्रीमाली, मुन्नी श्रीमाली, प्रभावति श्रीमाली का भी सम्मान किया गया।

कार्यक्रम में विगत शैक्षणिक सत्र में उत्कृष्‍ठ प्रदर्शन कर 85 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने वाले छात्रों सम्मान प्रशस्ति पत्र एवं लेखनी देकर किया गया। छात्र सम्मान में दिलीप श्रीमाली, राजेन्द्र श्रीमाली (राजु), ओमप्रकाश अमझरे, लवकेश श्रीमाली, जिन्तेद्र श्रीमाली, आशुतोष प्रधान एवं गौरव अमझरे द्वारा किया गया। महिला मण्डल के द्वारा विभिन्न खेल गतिविधियॉं आयोजित की गई जिसमें विजेता उपविजेता रहे महिलाओं को गिफ्ट हेम्पर मंजुला दलाल, मोनिका श्रीमाली द्वारा प्रदान किए गये।

मुख्य अतिथि डॉ. एस.जे. प्रधान ने कहा कि वृद्धजन समाज के वटवृक्ष, आधार स्तम्भ, परोपकारी एवं तजुर्बो की खान हैं। इनके पास अनुभव है और देने के लिए आर्शीवाद एवं दुआऍं हैं। समाज इनकी शीतल छाया में पल्लवित पोषित होता है और छाया हमेशा बुढे पेड़ से ही मिलती है गमले से नहीं।

कार्यक्रम का संचालन समाज उपाध्यक्ष नीरज अमझरे ने किया। आभार प्रदर्शन जनसम्पर्क प्रभारी हेमंत मेहता द्वारा किया गया।

प्रधान संपादक- कमलगिरी गोस्वामी

Spread the love
%d bloggers like this: