17/06/2024

madhyabharatlive

Sach Ke Sath

12 special talents of the district and city were also honored

12 special talents of the district and city were also honored

जिले और नगर की 12 विशिष्ट प्रतिभाओं को भी सम्मानित किया

जिला शिक्षक सम्मान समारोह समिति धार ने 180 सेवानिवृत्त शिक्षकों का सम्मान किया।

वर्ल्ड बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स लंदन ने सेवानिवृत शिक्षकों के विश्व के सबसे बड़े सम्मान समारोह का अवार्ड दिया।

धार। जिला शिक्षक सम्मान समारोह समिति धार ने” सेवानिवृत्त शिक्षकों का विश्व का सबसे बड़ा सम्मान समारोह” की श्रंखला में शिक्षक दिवस 5 सितंबर को धार में शिक्षक सम्मान समारोह और विशिष्ट प्रतिभाओं का सम्मान समारोह आयोजित किया।आयोजित गरिमामय समारोह में सम्माननीय अतिथिगण के रुप में धार विधायक श्रीमती नीना वर्मा, श्री राजीव यादव यादव पूर्व सीबी अध्यक्ष,श्री सरदार सिंह मेडा जिला पंचायत अध्यक्ष,श्रीमति नेहा महेश बोड़ने नपाध्यक्ष ,श्री ब्रजकांत शुक्ला सहायक संचालक जनजातिय कार्य विभाग की उपस्थिति रही।

वर्ल्ड बुक ऑफ़ रिकार्ड्स लंदन से आए प्रतिनिधि श्री आशीष मिश्रा, श्री हिमांशु तिवारी और श्री प्रभु राठौड़ भी मंचासीन रहे।

मंच पर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के क्षेत्रीय प्रबंधक फ्रांसिस हासदा ,संरक्षक श्री रामनारायण धाकड़ एवं श्री बबन अग्रवाल ,समिति के अध्यक्ष नारायण कुबेरजी जोशी और संस्थापक तथा सचिव सुरेश गोयल भी आसीन थे।

प्रारंभ में माँ सरस्वती एवं डॉक्टर राधाकृष्णनजी के चित्र पर माल्यार्पण कर एवं समक्ष में दीप प्रज्वलित कर सम्मान समारोह का विधिवत शुभारंभ किया गया। समिति के पदाधिकारीगण और सदस्यों ने मंचासीन सभी अतिथियों का स्वागत एवं अभिनंदन किया।

समिति के प्रवक्ता आशीष गोयल ने समिति का प्रतिवेदन देते हुए बताया कि विगत 39 वर्षों से समिति सेवानिवृत्त शिक्षकों का शॉल, श्रीफल ,माला और सम्मान पत्र से सम्मान कर रही है। समिति द्वारा इन वर्षों में लगभग 5400 सेवानिवृत्त शिक्षकों का सम्मान किया जा चुका है ।समिति द्वारा सेवानिवृत्त शिक्षकों के भोजन की व्यवस्था भी की जाती है ।साथ ही पूर्व वर्षो में राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त ,राज्यपाल पुरस्कार प्राप्त शिक्षकों का भी सम्मान एवं हाई स्कूल तथा हायर सेकंडरी स्कूलों में 100 प्रतिशत परीक्षा परिणाम देने वाले प्राचार्यों का भी सम्मान किया जाता रहा है। विगत 9वर्षों से समिति द्वारा समाज के विभिन्न क्षेत्रों में धार और जिले का नाम राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर गौरवान्वित करने वाले विशिष्ट प्रतिभाओं का भी सम्मान किया जाता है। छोटे से स्तर से शुरू हुआ यह कार्यक्रम आज पूरे विश्व में एक अभिनव नवाचार उपलब्धि लिए हुए हैं। हमें पूरे देश से ऐसी कोई जानकारी नहीं है कि इतने वर्षों से इस स्तर पर ऐसा सम्मान समारोह आयोजित किया जाता है, इसलिए समिति को आज वर्ल्ड बुक ऑफ़ रिकार्ड्स लंदन द्वारा तथा पूर्व में गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने भी 2018 में सम्मानित किया है और यह पूरे धार शहर के लिए गौरव की बात है कि वर्ल्ड बुक ऑफ़ रिकार्ड्स और गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने इसे सेवानिवृत्त शिक्षकों का विश्व का सबसे बड़ा सम्मान समारोह का दर्जा दिया है। समसामयिक रूप से पर्यावरण, राष्ट्रीय और सामाजिक क्षेत्र में भी समिति सक्रिय है। नगर में 4 यात्री प्रतीक्षालय और आदर्श सड़क,धारेश्वर ,लालबाग तथा हैप्पी विला गार्डन में विगत वर्षों में विश्व पर्यावरण दिवस और हरियाली अमावस्या पर पौधारोपण का कार्य भी किया है। कोरोना काल में जरूरतमंद लोगों को भोजन वितरण और 2 महीने 11 दिन तक कोरोना टीका का वैक्सीनेशन कैंप का आयोजन भी समिति द्वारा किया गया। राष्ट्रीय और सामाजिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जाते हैं।

जिला शिक्षक सम्मान समारोह समिति के संस्थापक और सचिव सुरेशचंद्र गोयल ने बताया कि समारोह में जनजातिय कार्य विभाग और शिक्षा विभाग के 1सितंबर 2022 से 31 अगस्त 2023 तक सेवानिवृत्त हुए 180 शिक्षकों का सम्मान किया गया।इसके साथ ही स वर्ग के सेवानिवृत शिक्षकों को भी सम्मानित किया गया है
साथ ही विशिष्ट प्रतिभाओं के अंतर्गत कांकलपुरा आश्रम का निस्वार्थ रूप से संचालन करने वाले श्री भारतसिंह जी सारेल गुरुजी, इसी आश्रम हेतु पांच बीघा जमीन दान करने वाले श्री मोरसिंह जी गिरवाल, अपने जीवन काल में कई समाज सेवा के कार्य करने वाले स्वर्गीय श्री रविंद्रसिंह जी सलूजा को मरणो उपरांत, द केरला स्टोरी फिल्म का लेखन करने वाले श्री सूर्यपाल सिंह चौहान,भारतीय प्रशासनिक सेवा में चयनित सुश्री संस्कृति मनोज जी सोमानी, पर्यावरण जागृति और पर्यावरण संरक्षण के लिए कार्यरत भू माई वेलफेयर फाउंडेशन धार, भारतीय नौसेना में सब लेफ्टिनेंट पद पर चयनित सुश्री रुचि राजेशजी बाजपेई, भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट पद पर चयनित राघवेंद्र मनोज जी मा हेश्वरी, अंतरराष्ट्रीय ओलंपियाड में 166 में रैंक प्राप्त करने वाली सुश्री बाली अखिलेश जी चौधरी, देश विदेश में योग के माध्यम से धार का नाम रोशन करने वाले योग गुरु श्री रमेश कश्यप, मनोरंजन के क्षेत्र में सोशल मीडिया के माध्यम से स्वस्थ मनोरंजन करने वाले गोपाल दा और राजू सेठ का स्मृति चिन्ह, सम्मान पत्र और माला से सम्मान किया गया।

समारोह में स्वागत भाषण समिति कोषाध्यक्ष रमेश सोलंकी ,आभार प्रदर्शन समिति उपाध्यक्ष ब्रजकिशोर बोडा और सुचारू संचालन प्रसिद्ध साहित्यकार डॉ श्रीकांतजी द्विवेदी ने किया।

समारोह को संबोधित करते हुए धार विधायक श्रीमती नीना वर्मा ने कहा कि शिक्षक कभी सेवानिवृत नहीं होता है, मां के बाद पहला गुरु शिक्षक की होता है।व्यक्ति के संस्कार का रचयिता शिक्षक ही होता है। उन्होंने सभी सेवानिवृत शिक्षकों से निवेदन किया कि वह समाज की सेवा करते रहे और प्रदेश के विकास में सहयोग करें। वर्ष 1984 से लगातार कार्यक्रम करने पर और दो वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने पर समिति को बधाई दी।

12 special talents of the district and city were also honored

पूर्व सीसीबी अध्यक्ष श्री राजीव यादव ने कहा कि लगातार 39 वर्षों से समिति यह पुनीत कार्य कर रही है।समिति के संस्थापक सुरेशजी गोयल को मध्य प्रदेश गौरव पुरस्कार मिलना चाहिए। आप सभी सेवानिवृत शिक्षकों से नए शिक्षकों को आपके अनुभव और सकारात्मक लाभ मिले यह कामना करता हूं।आप शासकीय सेवा से निवृत जरूर हो गए हैं किंतु समाज जागरण की और राष्ट्र कार्य की जिम्मेदारी अब आप पर है।

जिला पंचायत अध्यक्ष श्री सरदार सिंह मेडा ने सभी गुरुओं को प्रणाम करते हुए उनका अभिनंदन किया। शिक्षक समाज को नई दिशा प्रदान करते हैं और बच्चों के भाग्य विधाता है।

नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती नेहा बोढ़ाने ने कहा कि एक अच्छे व्यक्ति के निर्माण में शिक्षक का सर्वाधिक योगदान होता है। जिससे कि श्रेष्ठ समाज, नगर,प्रदेश और फिर श्रेष्ठ देश का निर्माण होता है। शिक्षक देश का भाग्य विधाता है।

जनजाति कार्य विभाग के सहायक आयुक्त श्री बृजकांत शुक्ला ने शासकीय कार्यों में किसी भी प्रकार की परेशानी आने पर सदैव उपलब्ध रहने का भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा कि हर परिस्थिति में शिक्षक का सम्मान होना चाहिए। गुरुकुल के समय से ही गुरुओं की महत्ता प्रतिपादित है। शिक्षक समाज और देश का भविष्य निर्माता है।

नन्ही सी बालिका मुक्ता अंकुर पालीवाल ने सरस्वती और गुरु वंदना नृत्य के साथ प्रस्तुत करी,वही समिति के ही श्री हरजीत सिंह होरा ने गुरु वंदना प्रस्तुत करी। सरस्वती वंदना का गायन श्रीमती अरुणा बोड़ा ने किया। अभिनंदन पत्र का वाचन गंगासिँह सिसोदिया ने किया.।

समस्त अतिथियों का स्वागत एवं स्मृति चिन्ह संरक्षक रामनारायण धाकड़, अध्यक्ष नारायण कुबेर जोशी ,संस्थापक और सचिव सुरेशचंद गोयल,संयोजक फ्रांसिस हासदा स्टेट बैंक,उपाध्यक्षगण योगेश अग्रवाल, वल्लभ अग्रवाल , लक्ष्मीनारायण मुकाती,ब्रजकिशोर बोडा, कोषाध्यक्ष रमेश सोलंकी,सह सचिव गंगासिंह सिसोदिया,सतीश शर्मा, अशोक वर्मा, हरजीत होरा, अंकुर पालीवाल, सोशल मीडिया प्रभारी योगेश चौहान, अजय अग्रवाल ने भेंट किए। समारोह को सफल बनाने में रमेश ठाकुर ,इरफान पठान, राजेश अग्रवाल,श्रीमती अरुणा बोड़ा, श्रीमती प्रभावती धाकड़, श्रीमती मनजीत कौर होरा,भुवान बघेल ,अमृतलाल जैन,सुरेश व्यास, संभाजीराव मोहिते, कृष्णकुमार गोयल, नंदकिशोर उपाध्याय, प्रभाकर खामकर, रामगोपाल वेद ,देवेंद्र जोशी,आशीष जैन आदि का सहयोग रहा। समारोह में गणमान्य नागरिक ,जनप्रतिनिधिगण पत्रकारगण ,मीडियाकर्मी आदि उपस्थित थे।

यह जानकारी समिति के प्रवक्ता आशीष गोयल ने दी। 

संपादक- श्री कमल गिरी गोस्वामी

Spread the love

Discover more from madhyabharatlive

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading