madhyabharatlive

Sach Ke Sath

Drug addiction and expenses on girlfriend became the reason for robbery

Drug addiction and expenses on girlfriend became the reason for robbery

नशे की लत और प्रेमिका के खर्चे बने, लूटपाट का कारण

पांचों आरोपियों से 2 दिन के रिमांड पर, एसडीओपी मोनिका सिंह और थाना प्रभारी ईश्वर सिंह चौहान ने की कड़ी पूछताछ।

फिल्मी स्टाइल में किया था लूट के आरोपियों को गिरफ्तार।

धार। 18 जून को बगड़ी फाटे के समीप दिनदहाड़े लूट की वारदात को अंजाम दिया था, वारदात में शामिल पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। पकड़े गए आरोपियो को न्यायालय में पेश करने के बाद 2 दिन के लिए रीमांड पर लिया गया था। रीमांड के दौरान जानकारी सामने आई है कि 20 से 25 साल की उम्र वाले इन आरोपियों को नशे की लत व प्रेमिका के खर्चे के लिए पैसों की जरूरत थी। इसलिए उन्होंने लूट की वारदात को अंजाम दिया।

थाना प्रभारी ईश्वर सिंह चौहान ने बताया कि लूट की वारदात में शामिल आरोपि क्रमशः संजय पिता दितिया भाभर भील उम्र 24 साल निवासी नीलकंठ मांडू, रवि पिता सुखराम सुरताने भील उम्र 21 साल निवासी नीलकंठ मांडू, जीवन पिता जगदीश जाति भील उम्र 24 साल निवासी ग्राम मेंहदीखेड़ा थाना मांडू, योगेश पिता प्रकाश गड़िया जाति पटलिया उम्र 20 साल निवासी ग्राम भोपावर थाना सरदारपुर, संजय पिता भेरुसिंह सिंगारे जाति भील उम्र 20 साल निवासी नीलकंठ मांडू थाना मांडू को शनिवार देर शाम न्यायालय में पेश किया गया था। 

बताएं स्थान पर, बैग नहीं मिला —

आरोपियों से और भी पूछताछ करना थी इसलिए 2 दिन का पुलिस रीमांड मिला है। इसी के चलते रविवार को घटना के बाद रुपए से भरा बैग रुपए निकालने के बाद कहां फेंका उसकी तलाश में करीब 30 किलोमीटर दूर मेहंदिया गांव पहुंचे किंतु आरोपियों द्वारा बताए गए स्थान पर बैग नहीं मिला। संभवत मवेशी चराने वाले कोई ग्रामीण बैग को वहां से उठा ले गए होंगे।

लूट के पैसों से खरीदी थी बाइक —

आरोपियों ने बैंककर्मी के साथ लूट में जो पैसे मिले थे।उसमें से एक बाइक खरीदी थी। आरोपियों के अनुसार बाइक रिंगनोद क्षेत्र से खरीदी थी। उसकी भी जांच के लिए रिंगनोद क्षेत्र पहुंचे थे। जिस व्यक्ति से बाइक खरीदी है उसे जो पैसे दिए गए हैं वह राशि भी जप्ती की जाएगी।

मांडू घाट क्षेत्र में ही बैंककर्मी को लूटना था —

रिमांड के दौरान एक बात यह भी निकल कर आई कि, आरोपियों ने लूट की वारदात की जो योजना बनाई थी। उसमें बैंककर्मी के साथ मांडू घाट में ही लूट करना थी। किंतु वाहनों की आवाजाही के कारण बैंक कर्मी के साथ लूट नहीं कर सके इसके बाद वे लगातार बैंककर्मी का पीछा करते रहे और मौका पाकर बगड़ी फाटे के समीप लूट की वारदात को अंजाम दे दिया।

मांडू के एक आरोपी के घर बैंककर्मी, समूह के पैसे एकत्रित करता था —

मांडू के नीलकंठ क्षेत्र के रहने वाले आरोपी रवि के घर बैंककर्मी अक्सर महिलाओं से समूह की राशि एकत्रित करता था। आरोपियो के परिवार की महिलाएं भी समूह से जुड़ी हुई थी। इस वजह से आरोपी रवि को, बैंक कर्मी के पास कितनी राशि है। एवं उसके बारे में पूरी जानकारी रहती थी। इसी के बाद से बैंककर्मी को लूटने की योजना बनाई गई।

नशे का शौक एवं प्रेमिकाओं के खर्चे बने, लूट का कारण —

पकड़े गए पांच आरोपी 20 से 25 वर्ष की उम्र के युवा है किसी भी आरोपी की अभी शादी नहीं हुई है। रिमांड के दौरान यह जानकारी सामने आई की नशे का शौक एवं प्रेमिकाओं के खर्चे के लिए उन्होंने इस लूट की वारदात को अंजाम दिया। इन सभी आरोपियों ने पीथमपुर में एक किराए का मकान भी ले रखा था जहां यह रहते थे। वारदात के बाद भी सभी आरोपी चकमा देते हुए धार उमरबन होते हुए पीथमपुर पहुंच गए थे। इससे पूर्व भी यह आरोपी किसी वारदात में शामिल थे इसकी भी कड़ी पूछताछ की जा रही है।

पूछताछ के बाद होगा खुलासा —

एसडीओपी मोनिका सिंह लगातार आरोपीयो से पूछताछ करने में जुटी है। शनिवार देर शाम को वे थाने पर पहुंची और आरोपियों से कड़ी पूछताछ की है। एसडीओपी मोनिका सिंह ने बताया कि, अभी सभी आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।  कुछ ओर खुलासा हो सकता है।

Spread the love