madhyabharatlive

Sach Ke Sath

रेप का आरोपी घायल, कस्टडी से भागा था, TI ने कहा पीड़िता को गोद लेंगे

बच्ची से रेप का आरोपी घायल, पुलिस कस्टडी से भागा था, पुलिस ने पकड़ा। महाकाल थाने के टीआई बोले- पीड़िता को गोद लेंगे।

उज्जैन। आरोपी का नाम भरत सोनी है। वह उज्जैन की ही झुग्गी बस्ती का रहने वाला है और ऑटो चलाता है। जिसने घटना को अंजाम दिया।

उज्जैन। 15 साल की बच्ची से रेप के आरोपी ने गुरुवार को पुलिस की गिरफ्त से फरार होने का प्रयास किया। भागते समय वह गिरकर घायल हो गया। उसके पैर में चोट लगी है।

आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। आरोपी का नाम भरत सोनी है। वह उज्जैन की ही झुग्गी बस्ती का रहने वाला है और ऑटो चलाता है। पुलिस ने बताया कि आरोपी ने बच्ची के साथ जीवनखेड़ी में दुष्कर्म किया।

टीआई अजय वर्मा ने बताया कि पुलिस जब आरोपी को जांच के लिए मौके पर लेकर गई, तो उसने वहां से भागने की कोशिश की। आरोपी ने अचानक दौड़ लगा दी। जिसे पकड़ने के लिए पुलिस के जवान भी उसके पीछे भागे। इस दौरान आरोपी नीचे गिर पड़ा जिससे उसे चोट आई है। पुलिस आरोपी को लेकर जिला अस्पताल गई। आरोपी को पकड़ने के दौरान दो पुलिसकर्मी भी जख्मी हुए है।

Rape accused injured, ran away from custody, TI said will adopt the victim
Rape accused injured, ran away from custody, TI said will adopt the victim

इस मामले में पुलिस पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि आरोपी भरत सोनी ने बच्ची को रात में रेलवे स्टेशन के सामने से बैठाया था। वो उसे जीवनखेड़ी ले गया। जहां उसने बच्ची के साथ रेप किया। पुलिस का कहना है कि बच्ची शायद बस से देवास गेट एरिया में पहुंची थी। पुलिस ने बताया कि 700 से ज्यादा CCTV फुटेज खंगालने के बाद पुलिस आरोपी तक पहुंची है।

मुख्य आरोपी भरत सोनी। उम्र 24 साल। उज्जैन के नानाखेड़ा क्षेत्र का रहने वाला है। इस पर पहले भी अलग-अलग धाराओं में 2 केस दर्ज है।

पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को आरोपी बनाया है। एक मुख्य आरोपी भरत सोनी, जिस पर 376 और पॉक्सो के तहत केस दर्ज किया है। दूसरा आरोपी राकेश मालवीय, जिस पर साक्ष्य छिपाने का आरोप है। पुलिस ने ये भी बताया कि मेडिकल जांच में बच्ची के साथ गैंगरेप की पुष्टि नहीं हुई है।

पीड़िता बच्ची को लेंगे गोद—

उज्जैन के महाकाल थाने के टीआई अजय वर्मा ने पीड़ित बच्ची को गोद लेने की बात कही है। इस केस में टीआई अजय वर्मा ही इंवेस्टिगेशन कर रहे हैं।

CCTV फुटेज देवास गेट, बस स्टैंड का है। इसमें लड़की एक ऑटो में बैठकर जाते हुए दिखाई दे रही है।

बच्ची सतना की रहने वाली

पीड़ित बच्ची सतना जिले की रहने वाली है। शुरुआत में पुलिस और एक्सपर्ट ने बच्ची से बातचीत की थी, तब यह अनुमान लगाया गया था कि वह प्रयागराज (UP) की रहने वाली हो सकती है।

25 सितंबर को लड़की बदहवास हालत में महाकाल थाना इलाके में दांडी आश्रम के पास मिली थी। उसके कपड़े खून से सने हुए थे। बच्ची आधे-अधूरे कपड़ों में सांवराखेड़ी सिंहस्थ बायपास की कॉलोनियों में ढाई घंटे तक भटकती रही। इसके CCTV फुटेज पुलिस ने खोजे हैं। वह पूरे आठ किलोमीटर चलती गई। फुटेज में बच्ची 5 ऑटो ड्राइवर के साथ दिखी है।

पुलिस ने पहले बच्ची की उम्र 12 साल बताई थी। हालांकि FIR कॉपी में उम्र 15 साल दर्ज है।

पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा ने बताया कि पीड़ित सतना जिले के एक गांव की रहने वाली है। 24 सितंबर को घर से गायब हुई थी। उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट सतना जिले के जैतवारा थाने में दर्ज है।

CM शिवराज बोले- अपराधी को कड़ी सजा दिलाएंगे

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा- उज्जैन में मासूम बिटिया के साथ जघन्य अपराध करने वाला आरोपी पकड़ा गया है। वह उज्जैन का ही है। उसे कठोरतम दंड दिया जाएगा। हम कसर नहीं छोड़ेंगे, अपराधी को कड़ी सजा दिलाएंगे। मैं लगातार हर घंटे स्थिति पता कर रहा था।

इस तरह के अपराधी समाज में रहने के लायक नहीं है। उसने मध्यप्रदेश की आत्मा को घायल किया है। बेटी मध्यप्रदेश की है। उसकी हर तरह से हम चिंता करेंगे। वो मेरी बेटी है, मध्यप्रदेश की है। मैं चिंता करूंगा।

आरोपी भरत सोनी का ऑटो। इसी में वह बच्ची को रेलवे स्टेशन के सामने से बैठाकर जीवनखेड़ी ले गया था। जहां उसने बच्ची के साथ रेप किया।

मां बचपन में छोड़कर चली गई, पिता अर्धविक्षिप्त

जैतवारा पुलिस ने बताया कि बच्ची की मां बचपन में ही उसे छोड़कर चली गई थी। पिता अर्धविक्षिप्त है। बच्ची अपने दादा और बड़े भाई के साथ एक गांव में रहती है। गांव के ही स्कूल में 8वीं कक्षा में पढ़ती है। उसके लापता होने पर दादा ने 24 सितंबर को गुमशुदगी दर्ज कराई थी। सतना पुलिस की टीम भी उज्जैन के लिए रवाना हुई है।

तड़के 3.15 से सुबह 5 बजे तक घुमाते रहे ऑटो ड्राइवर

बच्ची अपने घर से निकलकर ट्रेन से उज्जैन पहुंची थी। वह सोमवार तड़के 3 बजे उज्जैन रेलवे स्टेशन पर उतरी। यहां उसने एक ऑटो ड्राइवर से कुछ बात की। सुबह 5 बजे तक बच्ची अलग-अलग ऑटो ड्राइवर के साथ CCTV फुटेज में नजर आई है।

प्रियंका गांधी ने कहा, भाजपा के कुशासन में कोई सुरक्षित नहीं

उज्जैन की घटना पर प्रियंका गांधी ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा, ‘भगवान महाकाल की नगरी उज्जैन में एक छोटी बच्ची के साथ हुई बर्बरता आत्मा को झकझोर देने वाली है। अत्याचार के बाद वह ढाई घंटे तक दर-दर मदद के लिए भटकती रही और फिर बेहोश होकर सड़क पर गिर गई, लेकिन मदद नहीं मिल सकी।

ये है मध्यप्रदेश की कानून व्यवस्था और महिला सुरक्षा? भाजपा के 20 साल के कुशासन तंत्र में बच्चियां, महिलाएं, आदिवासी, दलित कोई सुरक्षित नहीं है। लाडली बहना के नाम पर चुनावी घोषणाएं करने का क्या फायदा है? अगर बच्चियों को सुरक्षा और मदद तक नहीं मिल सकती।

दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख बोलीं, मदद नहीं करने वालों पर हो कार्रवाई

उज्जैन की घटना पर दिल्ली महिला आयोग (DCW) प्रमुख स्वाति मालीवाल ने कहा, मध्यप्रदेश पुलिस को आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार कर और सख्त से सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। ये कौन लोग हैं जिन्हें दया नहीं आई? जब नग्न अवस्था में खून से लथपथ हालत में 12 साल की छोटी बच्ची घर-घर जाकर मदद की गुहार लगा रही थी, क्या ऐसे लोगों पर कार्रवाई नहीं होनी चाहिए?

हम किस तरीके का देश बना रहे हैं? ऐसे लोगों पर भी कार्रवाई होनी चाहिए। मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट में जाना चाहिए और रेपिस्ट को फांसी होनी चाहिए। अगर ऐसी घटनाएं हर दूसरे दिन होती रहेंगी तो हमारी बेटियां कैसे बचेंगी और कैसे पढ़ेंगी।

Rape accused injured, ran away from custody, TI said will adopt the victim
Rape accused injured, ran away from custody, TI said will adopt the victim

रेप विक्टिम खून से सने कपड़ों में 8KM भटकी; किसी ने मदद नहीं की

जगह- उज्जैन की एक कॉलोनी। वक्त- सुबह 6 बजे। डरी-सहमी 15 साल की लड़की लड़खड़ाते हुए आती दिखती है। आधे-अधूरे कपड़े पहने हैं। शरीर के निचले हिस्से से खून बह रहा है। रोते हुए मदद की गुहार लगाती है, लेकिन इस बीच कोई मदद नहीं करता। वो करीब तीन घंटे पैदल चलकर 8 किलोमीटर का सफर तय करती है।

संपादक- कमलगिरी गोस्वामी

Spread the love