madhyabharatlive.com

Sach Ke Sath

Four killed so far in Umesh murder case, Atiq Ahmed's son Asad, carrying a prize of five lakhs, was killed in a police encounter

Four killed so far in Umesh murder case, Atiq Ahmed's son Asad, carrying a prize of five lakhs, was killed in a police encounter

उमेश हत्याकांड में अब तक चार ढेर, अतीक अहमद का बेटा पांच लाख का इनामी असद पुलिस मुठभेड़ में मारा गया

माफिया अतीक अहमद का बेटा पांच लाख का इनामी असद पुलिस मुठभेड़ में मारा गया।

झांसी/उत्तरप्रदेश। पुलिस सूत्रों के मुताबिक उत्तर प्रदेश एसटीएफ की अशद के साथ गुरुवार को झांसी में मुठभेड़ हुई है। जवाबी कार्रवाई में वह मारा गया।

हालांकि अभी तक पुलिस आधिकारिक रूप से कुछ कहने को तैयार नहीं है। असद, उमेश पाल हत्याकांड का आरोपी है। उमेश पाल हत्याकांड के बाद से पुलिस इसकी तलाश में जुटी थी।

प्रयागराज जनपद में उमेश पाल और दो सुरक्षा कर्मियों के हत्याकांड में मुख्य आरोपित माफिया अतीक अहमद के बेटे असद अहमद साथी गुलाम समेत उत्तर प्रदेश की स्पेशल टॉस्क फोर्स (एसटीएफ) ने झांसी में मुठभेड़ के दौरान मार गिराया। दोनों प्रयागराज के उमेश पाल हत्याकांड में वांछित थे और प्रत्येक पर पांच-पांच लाख रुपये का इनाम था।

Four killed so far in Umesh murder case, Atiq Ahmed's son Asad, carrying a prize of five lakhs, was killed in a police encounter

एसटीएफ से मिली शुरुआती जानकारी के मुताबिक दिल्ली से भागने के बाद असद और गुलाम यूपी बॉर्डर के पास मध्यप्रदेश में थे। वहीं से एसटीएफ ने दोनों का पीछा किया और झांसी के परीक्षा बांध के पास बड़ागांव इलाके में मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ के दौरान असद और मोहम्मद गुलाम ने एसटीएफ की टीम पर फायर किए। जवाबी कार्रवाई में दोनों को ढेर कर दिया। दोनों के पास से पुलिस को हथियार भी मिले है। इसकी पुष्टि एसटीएफ के अपर पुलिस महानिदेशक अमिताभ यश ने की है।

मुठभेड़ की और अधिक जानकारी देते हुए एसटीएफ के पुलिस उपमहानिरीक्षक (डीआईजी) अनंत देव तिवारी ने बताया कि असद और गुलाम को हमारी टीम ने मार गिराया है। इनके पास से पिस्टल, रिवाल्वर और विदेशी हथियार बरामद हुए हैं।

उल्लेखनीय है कि माफिया अतीक अहमद का बेटा और पांच लाख का इनामी असद उसका साथी गुलाम गुरुवार को झांसी में एसटीएफ की मुठभेड़ में ढेर हो गए। मुठभेड़ में मारे गए दोनों इनामी ने बीती 24 फरवरी को उमेश पाल और उनके दो सरकारी गनर की सुलेम सराय में दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी थी और तब से फरार चल रहे थे।

इस वारदात के बाद असद सहित पांच अभियुक्तों पर पांच-पांच लाख का इनाम घोषित किया गया था। बताया जा रहा है कि दोनों 15 दिन तक दिल्ली में पनाह लेने के बाद भाग निकले थे। मगर दिल्ली में पकड़े गए असलहा तस्कर और चालक से मिले सुराग के आधार पर उपाधीक्षक नवेंदु कुमार और उपाधीक्षक विमल की टीम ने पूछताछ के बाद दोनों का पीछा किया और मुठभेड़ में मार गिराया। इस टीम में कुल 12 लोग शामिल थे। दो पुलिस उपाधीक्षक के अलावा, दो कमांडों, दो इंस्पेक्टर, एक एसआई और पांच हेड कॉन्स्टेबल शामिल हैं।

माफिया पिता-चाचा की पेशी और रिमांड के बीच इनामी बेटा साथी समेत ढेर उत्तर प्रदेश में उमेश पाल हत्याकांड में जहां एक ओर प्रयागराज में माफिया अतीक अहमद को साबरमती जेल से लाकर गुरुवार को प्रयागराज में उसके भाई अशरफ के साथ न्यायालय में पेश किया गया। यहां पर कोर्ट ने दोनों की पुलिस रिमांड को मंजूर कर लिया। इस बीच माफिया के पांच लाख के इनामी बेटे असद और उसके साथ गुलाम के साथ एसटीएफ की झांसी में मुठभेड़ चल रही थी। जिसमें दोनों मारे गए। अतीक को जैसे ही कोर्ट में बेेटे की साथी समेत मुठभेड़ में मारे जाने की जानकारी मिली वह गश खाकर गिर गया।

उमेश हत्याकांड में अब तक चार ढेर

प्रयागराज में 24 फरवरी को हुए उमेश पाल हत्याकांड में यूपी पुलिस अब तक चार फरार आरोपितों को मुठभेड़ में ढेर कर चुकी है। पहला एनकाउंटर प्रयागराज में ही 27 फरवरी को अरबाज का हुआ था। अरबाज उस क्रेटा कार को चला रहा था, जिससे हमलावर उमेश पाल के घर तक पहुंचे थे। इसमें असद भी था। वहीं, दूसरा एनकाउंटर छह मार्च को हुआ था। इसमें उमेश पर पहली गोली चलाने वाले विजय चौधरी उर्फ उस्मान को मुठभेड़ मार गिराया था। अतीक के परिवार की मदद करने वाले तीन आरोपितों और करीबियों के घर बुलडोजर चला था। उत्तर प्रदेश की पुलिस और एसटीएफ ने गुरुवार को दो और इनामी आरोपितों का एनकाउंटर में ढेर करते हुए अतीक की हिम्मत को लगभग मिट्टी में मिला दिया है।

प्रधान संपादक- कमलगिरी गोस्वामी

Spread the love