madhyabharatlive

Sach Ke Sath

राम को लाए है गाने पर मेरी शिकायत की, ये राम विरोधी, भोजशाला विरोधी और व्‍यवस्‍था विरोधी है – यादव

चुनाव प्रचार थमने से पहले धानमंडी की सभा में राष्‍ट्रवादी प्रत्‍याशी राजीव यादव ने कहा संकल्‍प के साथ चुनाव मैदान में उतरा हूं, नर्मदा का पानी घर-घर पहुंचाउंगा।

शहीद क्रांतिकारी सुखदेव के नाती लुधियाना से पहुंचे धार, मतदाताओं से की राष्‍ट्रवाद के हित में मतदान की अपील।

धार। जो राम को लाए है, हम उनको लाएंगे….मेरे प्रचार में यह गाना बजाने पर मेरी शिकायत कर दी गई। मैं इस गाने का दुरुपयोग कर रहा हूं, क्‍या मैंने इस गाने का दुरुपयोग किया है। हम लोग किसको मानने वाले लोग है, राम को मानने वाले लोग है। जिन लोगों ने शिकायत की है, वे कौन लोग है, वे राम के विरोधी लोग है। व्‍यवस्‍था के विरोधी लोग है, भोजशाला के विरोधी लोग है। मैंने संकल्‍प लिया है जब अयोध्‍या में राम मंदिर का निर्माण होगा, तब धार से मैं लोगों को अयोध्‍या लेकर जाउंगा।

Complained about me on the song Ram Ko Laaye Hai, it is anti-Ram, anti-Bhojshala and anti-system - Yadav

यह बात राष्‍ट्रवादी प्रत्‍याशी राजीव यादव ने बुधवार को प्रचार के अंतिम दिन धानमंडी में सभा को संबोधित करते हुए कही। उन्‍होंने इस दौरान कहा देश के गृहमंत्री धार के किला मैदान सभा में वंशवाद और परिवारवाद को खत्‍म करने का नारा देकर गए है। यादव ने कहा जो अपने बेटा-बेटियों को आगे बढ़ाने में लगे है, वे धार का भला कर सकता है क्‍या। देश का बहुत नुकसान हुआ है, हमें बदलाव लाना है। धार राजा भोज की नगरी है, इसे विक्रम नगरी बनाने का प्रयास किया जा रहा है, शहर का गौरव दिवस 23 जनवरी को उनके जन्‍मदिन पर मनें, हम इस व्‍यवस्‍था के विरोधी है। व्‍यक्तिवादी सोच के खिलाफ, परिवारवादी सोच के खिलाफ मैं चुनाव लड़ रहा हूं। यह चुनाव विचारधारा का चुनाव है।

Complained about me on the song Ram Ko Laaye Hai, it is anti-Ram, anti-Bhojshala and anti-system - Yadav

तालाब की तीन बीघा जमीन कम कर दी

सभा को संबोधित करते हुए पूर्व विधायक करणसिंह पंवार ने कहा कि धार में इंजीनियरिंग कॉलेज की स्‍वीकृति 2015-16 में हो गई थी। इंजीनियरिंग कॉलेज की मान्‍यता और व्‍यवस्‍था यह है कि जितने पॉलीटेक्निक में पढ़ने वाले छात्र है, उन्‍हें सीधे ही इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश मिल जाता है। उस इंजीनियरिंग कॉलेज को स्‍वीकृत नहीं होने दिया। पंवार ने कहा कि तालाबों के विकास की योजना बनाई तो देवीजी तालाब का रकबा 3 बीघा तक कम कर दिया। इसके पूर्व मीसाबंदी व वरिष्‍ठ नेता अनंत अग्रवाल ने भी संबोधित किया। मंच पर शहीद क्रांतिकारी सुखदेव के नाती विशाल नायर भी शामिल हुए और राष्‍ट्रवादी प्रत्‍याशी यादव को विजय बनाने का संकल्‍प मतदाताओं को दिलवाया। इस दौरान मंच पर भोज उत्‍सव समिति के महामंत्री हेमंत दौराया, पूर्व मंडी अध्‍यक्ष अंतरसिंह नागर, पूर्व नपाध्‍यक्ष देवेंद्र पटेल, धार नपाध्‍यक्ष नेहा महेश बोढ़ाने मौजूद थी। मंच संचालन आशीष गोयल ने किया। आभार सन्‍नी रिन ने माना। सभा में बड़ी संख्‍या में कार्यकर्ता मौजूद थे।

संपादक- कमलगिरी गोस्वामी

Spread the love